Warning: sprintf(): Too few arguments in /home/customer/www/todaysnews.co.in/public_html/wp-content/themes/infinity-news/inc/breadcrumbs.php on line 252

Amitabh Bachchan gets emotional after watching recitation of father Harivansh Rai Bachchan’s ‘Madhushala’ by students | पोलैंड के स्टूडेंट्स ने दी बाबूजी हरिवंश राय बच्चन की ‘मधुशाला’ को आवाज, वीडियो शेयर कर बिग बी ने लिखा- मेरे आंसू बह निकले

0 0
Read Time:4 Minute, 11 Second


2 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
  • मंगलवार शाम बिग बी ने यूनेस्को द्वारा सिटी ऑफ लिट्रेचर का दर्जा प्राप्त पोलैंड के व्रोकलॉ शहर का एक वीडियो साझा किया
  • जिसमें यूनिवर्सिटी के कुछ स्टूडेंट उनके बाबूजी डॉ. हरिवंश राय बच्चन की फेमस रचना मधुशाला गाते दिखाई दे रहे हैं

महानायक अमिताभ बच्चन 11 दिन से नानावटी हॉस्पिटल के कोविड आइसोलेशन वार्ड में भर्ती हैं। बावजूद इसके वे सोशल मीडिया पर अपनी मौजूदगी बनाए हुए हैं। मंगलवार शाम बिग बी ने यूनेस्को द्वारा सिटी ऑफ लिट्रेचर का दर्जा प्राप्त पोलैंड के व्रोकलॉ शहर का एक वीडियो साझा किया, जिसमें यूनिवर्सिटी के कुछ स्टूडेंट उनके बाबूजी डॉ. हरिवंश राय बच्चन की फेमस रचना मधुशाला गाते दिखाई दे रहे हैं। बिग बी की मानें तो वे इस वीडियो को देखने के बाद इतने इमोशनल हो गए कि अपने आंसू नहीं रोक पाए। 

अमिताभ ने लिखा- मेरे आंसू बह निकले

अमिताभ ने वीडियो शेयर करते हुए लिखा है, “मेरे आंसू बह निकले। व्रोकलॉ, पोलैंड को यूनेस्को सिटी ऑफ लिट्रेचर से सम्मानित किया गया था। आज उन्होंने यूनिवर्सिटी की छत पर स्टूडेंट द्वारा बाबूजी की मधुशाला का गायन करवाया। उन्होंने संदेश दिया है कि व्रोकलॉ डॉ. हरिवंश राय बच्चन का शहर है।”

क्या है सिटी ऑफ लिट्रेचर सम्मान

सिटी ऑफ लिट्रेचर यूनेस्को के व्यापक ‘क्रिएटिव सिटी नेटवर्क’ के 7 क्रिएटिव फील्ड में से एक है। 2004 में यह नेटवर्क लॉन्च किया गया था। लिट्रेचर के अलावा इस नेटवर्क में दूसरे क्रिएटिव फील्ड क्राफ्ट और फोक आर्ट्स, डिजाइन, फिल्म, गैस्ट्रोनॉमी, मीडिया आर्ट्स और म्यूजिक हैं। सिटी ऑफ लिट्रेचर में शामिल होने के लिए शहर को यूनेस्को के क्राइटेरिया पर फिट बैठना होता है। व्रोकलॉ को 2019 में यह सम्मान दिया गया गया। 

अस्पताल मे बाबूजी को बहुत याद कर रहे बिग बी

अस्पताल में अमिताभ बच्चन बाबूजी को बहुत याद कर रहे हैं और उनकी कविताएं भी सोशल मीडिया पर साझा कर रहे हैं। रविवार को उन्होंने ऐसी ही एक कविता उन डॉक्टर्स को समर्पित की थी, जो कोरोना से संक्रमित बच्चन परिवार का इलाज कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें.

1.वॉट्सऐप पर अमिताभ को नानावटी का डायरेक्टर और उनकी बीमारी को प्रचार बताया जा रहा, पड़ताल में झूठी निकली सारी बातें

0





Source link

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *