Warning: sprintf(): Too few arguments in /home/customer/www/todaysnews.co.in/public_html/wp-content/themes/infinity-news/inc/breadcrumbs.php on line 252

Smartphone Tips: How to Make Your Phone Waterproof & What Mistakes to Avoid in Raining Season | बारिश के सीजन में फोन को वाटरप्रूफ बनाने के 3 तरीके, पानी के साथ धूल और मिट्टी से भी रहेगा सेफ

0 0
Read Time:5 Minute, 32 Second


  • Hindi News
  • Tech auto
  • Smartphone Tips: How To Make Your Phone Waterproof & What Mistakes To Avoid In Raining Season

नई दिल्ली15 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
  • फोन वाटरप्रूफ नहीं है तब पानी की वजह से वो खराब हो सकता है
  • वाटरप्रूफ कवर्स में फोन को रखकर स्विमिंग पूल में भी जा सकते हैं

बारिश का मौसम शुरू हो चुका है। ऐसे में घर से बाहर निकलते समय सबसे ज्यादा ध्यान फोन का रखना होता है, क्योंकि आपका फोन वाटरप्रूफ नहीं है तब पानी की वजह से वो खराब हो सकता है। हालांकि, फोन को कुछ टिप्स और प्रोडक्ट की मदद से वाटरप्रूफ बनाया जा सकता है।

1. वाटरप्रूफ केस का इस्तेमाल

कई बार तो सेफ्टी के बाद भी फोन में पानी चला जाता है। ऐसे में जरूरी है कि यूजर के पास एक ऐसा स्मार्ट कवर हो जो फोन को वाटरप्रूफ बना दे। हम जिन कवर्स के बारे में बता रहे हैं वे बारिश में फोन को पूरी तरह सेफ रखेंगे। वाररप्रूफ केस भी हार्ड केस और सॉफ्ट केस में आते हैं।

इस केस की खासियत

  • इन कवर्स की खास बात होती है कि ये फोन के साथ कम्फर्टेबल होते हैं।
  • इनमें फीचर फोन के साथ स्मार्टफोन भी आसानी से आ जाते हैं।
  • यूजर इन कवर्स में फोन को रखकर बारिश के साथ स्विमिंग पूल में भी जा सकते हैं।
  • इन्हें इस तरह से डिजाइन किया गया है कि फोन के किसी भी पार्ट में पानी ने जाए।

कीमत : 200 से 1000 रुपए तक

कवर के फायदे : इन केस में स्मार्टफोन का आसानी से इस्तेमाल किया जा सकता है। फोन के सभी तरह के बटन, कंट्रोल और दूसरे पोर्ट के लिए इनमें एक्सेस होता है। ये वाटरप्रूफ होने के साथ शॉकप्रूफ और डस्टप्रूफ भी होते हैं।

कवर के नुकसान : यदि कवर हार्ड मटेरियल में है तब वो भारी हो सकता है, या फिर उसका साइज इतना बड़ा हो जाएगा कि फोन को जेब में आसानी से नहीं रख पाएंगे। कॉल की आवाज कम हो जाएगी।

नोट : वाटरप्रूफ कवर का इस्तेमाल बारिश के दौरान ही करना चाहिए। फोन को हमेशा ऐसे कवर में नहीं रखना चाहिए।

2. नैनो कोटिंग (वाटर रेजिस्टेंस)

नैनो कोटिंग एक हाइड्रोफोबिक लिक्विड होता है, जो अपनी सतह पर पानी को टिकन नहीं देता। इसका उपयोग वाटप्रूफ इलेक्ट्रॉनिक्स आइटम पर किया जाता है, क्योंकि इसकी वजह से पानी डिवाइस के अंदर नहीं जा पाता। हालांकि, इस कोटिंग से फोन वाटरप्रूफ नहीं बनाता, बल्कि उसे हल्की बारिश, बूंदों से बचाया जा सकता है। नैनो कोटिंग को फोन के ऊपर से आसान से रगड़कर हटाया जा सकता है।

कीमत : 500 से 1000 रुपए तक

नैनो कोटिंग के फायदे : इस कोटिंग के इस्तेमाल से फोन को कोई नुकसान नहीं पहुंचता। यानी फोन की स्क्रीन पर इस कोटिंग को लगाने से वो पहले जैसा ही काम करती है।

नैनो कोटिंग के नुकसान : इस लगाने के बाद फोन को पानी में डुबोने की गलती नहीं करें। ये शॉकप्रूफ नहीं होती। फोन की स्क्रीन की ब्राइटनेस काफी कम हो जाती है। 

नोट : ये फोन को डेली पानी के छींटे, डस्ट से बचाती है। अच्छी क्वालिटी की कोटिंग की लाइफ 6 महीने तक होती है।

3. वाटरप्रूफ फोन स्किन

फोन को वाटरप्रूफ बनाने का ये सबसे सस्ता तरीका है। वाटरप्रूफ फोन स्किन एक पतली चिपकाने वाली फिल्म होती है, जो फोन पर डायरेक्ट लगाई जा जाती है। स्किन में फोन को फिक्स करने के बाद पीछे की तरफ से कवर कर दिया जाता है। हालांकि, ये स्थाई समाधान नहीं होता है और इसे कुछ दिन ही इस्तेमाल कर पाते हैं।

कीमत : 200 से 2000 रुपए तक

वाटरप्रूफ स्किन के फायदे : सस्ती होती है और किसी भी नॉर्मल फोन के साथ इसका इस्तेमाल किया जा सकता है।

वाटरप्रूफ स्किन के नुकसान : फोन चार्ज करने के लिए स्किन को हटाना पड़ता है। साउंड क्वालिटी खराब हो जाती है। सीमित समय तक ही इस्तेमाल कर सकते हैं।

नोट : डेली के लिक्विड डेमेज से फोन को बचाता है। पानी के साथ धूल और मिट्टी से भी फोन को सेफ रखता है।

0



Source link

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *